Mahant Narendra Giri Suicide case, Jan Media TV

Mahant Narendra Giri Suicide case महंत नरेंद्र गिरि मौत केसः अमर गिरि ने शिष्य आनंद गिरि पर कराया FIR, 2 और हिरासत में; डिप्टी CM केशव मौर्या ने कहा – दोषियों को मिलेगी कड़ी सजा

Mahant Narendra Giri Suicide case महंत नरेंद्र गिरि मौत केसः अमर गिरि ने शिष्य आनंद गिरि पर कराया FIR, 2 और हिरासत में; डिप्टी CM केशव मौर्या ने कहा – दोषियों को मिलेगी कड़ी सजा


पूरे घटनाक्रम पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि साजिश न होती तो महाराज जी कभी भी आत्महत्या नहीं कर सकते थे। मामले की निष्पक्ष जांच की जा रही है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि Mahant Narendra Giri Suicide case

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की कथित आत्महत्या मामले में पुलिस ने महंत आनंद गिरि पर एफआईआर दर्ज कर लिया है। पूरे घटनाक्रम में अब तक तीन शिष्यों को हिरासत में लिया गया है। जिसमें आनंद गिरि भी शामिल है। पुलिस की तरफ से दफा 306 यानी आत्महत्या के लिए मजबूर करने या उकसाने का मामला दर्ज किया गया है।

Mahant Narendra Giri Suicide case

पुलिस की तरफ से दर्ज एफआईआर में कहा गया है कि आनंद की प्रताड़ना की वजह से ही मंहत ने अपनी जान दे दी। हालांकि साथ ही पुलिस का कहना है कि जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने नहीं आ जाता तब तक कुछ भी कहना सही नहीं होगा। आनंद गिरि को हरिद्वार से पुलिस ने हिरासत में लिया है। वहीं प्रयागराज लेटे हनुमान मंदिर के पुजारी और उनके बेटे को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है।

Mahant Narendra Giri Suicide case

आनंद गिरि ने लगाया हत्या का आरोप: हिरासत में लिए जाने से पहले आनंद गिरि ने मीडिया के सामने कहा कि इस बात में उन्हें शक नहीं कि उनके गुरु महंत नरेंद्र गिरि की हत्या की गयी है। इसमें कौन लोग शामिल हैं, इस बात का खुलासा होना चाहिए। कई लोग ऐसे हैं, जिन पर उन्हें शक है और सच्चाई सामने आनी ही चाहिए। मैं अगर दोषी पाया जाता हूं तो फिर मुझे भी सजा मिलनी चाहिए।

Mahant Narendra Giri Suicide case

‘एक-एक घटना का होगा पर्दाफाश’: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कल की घटना को लेकर बहुत से साक्ष्य इकट्ठे किए गए हैं। पुलिस की एक टीम, यहां के एडीजी जोन, आईजी रेंज और डीआईजी प्रयागराज, मंडलायुक्त प्रयागराज सभी अधिकारी एकसाथ मिलकर इस काम को आगे बढ़ा रहे हैं। एक-एक घटना का पर्दाफाश होगा और दोषी को अवश्य सजा मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस दुखद घटना से हम सब व्यथित हैं। यह हमारे आध्यात्मिक और धार्मिक समाज की अपूरणीय क्षति है। मान अपमान की चिंता के बगैर उन्होंने प्रयागराज कुंभ को भव्यता के साथ आयोजित करने में योगदान दिया था। समाज और देश के हित में किए जाने वाले हर निर्णय में उनका सहयोग प्राप्त होता था।

Mahant Narendra Giri Suicide case

पूरे घटनाक्रम पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि साजिश न होती तो महाराज जी कभी भी आत्महत्या नहीं कर सकते थे। मामले की निष्पक्ष जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोई भी दोषी होगा उसे कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी। जरूरत पड़ी तो सीबीआई जांच भी की जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी पूरे मामले पर राजनीति कर रही है।

Mahant Narendra Giri Suicide case

बताते चलें कि कांग्रेस ने महंत नरेंद्र गिरि की कथित आत्महत्या पर सोमवार को दुख जताया था और साथ ही कहा था कि यह खुदकुशी है या फिर ‘सुनियोजित हत्या’ का मामला है। महंत नरेंद्र गिरि ने अपने मठ बाघंबरी गद्दी में सोमवार की शाम कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘‘संतों महन्तों की सर्वोच्च संस्था अखाड़ा परिषद के आदरणीय महंत नरेंद्र गिरी जी की संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हृदयविदारक है। श्रद्धांजलि।’’ उन्होंने सवाल किया, ‘‘क्या यह आत्महत्या है या सुनियोजित हत्या? उत्तर प्रदेश भाजपा की ये कैसी सरकार है जो देश के संतों महंतों की रक्षा करने में भी समर्थ नहीं?’’

Mahant Narendra Giri Suicide case

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महंत के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया था, ‘‘अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री नरेंद्र गिरि जी का देहावसान अत्यंत दुखद है। आध्यात्मिक परंपराओं के प्रति समर्पित रहते हुए उन्होंने संत समाज की अनेक धाराओं को एक साथ जोड़ने में बड़ी भूमिका निभाई। प्रभु उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें। ॐ शांति!!’’

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Shopping Cart
Enable Notifications    OK No thanks