अस्‍पताल नहीं ‘वार रूम्‍स’ के जरिये होगा कोविड बेड के लिएआवंटन

अस्‍पताल नहीं ‘वार रूम्‍स’ के जरिये होगा कोविड बेड के लिएआवंटन

मुंबई के लिए योजना महानगर मुंबई में कोविड-19 केसों में आए उछाल के बीच बृहन्‍नमुंबई म्‍युनिसिपल कार्पोरेशन ने अस्‍पतालों में बेड की संभावित कमी दूर करने के लिए तैयारी शुरू कर दिया है। कोविड-19 मरीजों के लिए न केवल बेड की संख्‍या बढ़ाई जा रही है बल्कि अब ऐसे मरीजों के लिए अधिक बेड रिजर्व रखे जा रहे हैं। प्राइवेट अस्‍पतालों में सभी आईसीयू बेड और कुल कोविड बेड के 80 % स्‍थानीय निकाय के ‘वार्ड वार रूम्‍स’ के अंतर्गत केंद्रीयकृत अलाटमेंट के लिए रिजर्व रखा जाएगा।इस सप्‍ताह के आखिर तक मुंबई में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए करीब 7000 बेड उपलब्‍ध कराने का लक्ष्‍य रखा है, इन मरीजों को अस्‍पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ सकती है. सोमवार को मुंबई में कोरोना के 5,888 नए केस दर्ज हुई 12 लोगों की मौत संक्रमण के चलते हुई है। महाराष्‍ट्र देश का कोरोना से सबसे ज्‍यादा प्रभावित राज्‍य है।जारी सर्कुलर में कहा गया है कि मुंबई के निजी अस्‍पतालो में तत्‍काल प्रभाव से कोरोना मरीजों के लिए 2269 बेड, इसमें 360 ICU शामिल है बढ़ाए जाएंगे। सिद्ध इकबाल सिंह ने बताया कि अस्‍पतालों की ओर से कोई भी बेड सीधे आवंटित नहीं किया जाएगा। हॉस्पिटल बेड्स के सभी अलॉटमेंट केवल 24 वार्ड वार रूम्‍स के जरिये किया जाएगा इसलिए किसी को भी टेस्टिंग लैब से सीधे पॉ‍जिटिव कोविड रिपोर्ट हासिल करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। नए बेड उन 3000 बेड्स के अतिरिक्‍त होंगे जो इस समय मुंबई में कोविड-19 पेशेंट्स के लिए उपलब्‍ध है।इन 3000 बेड्स में से 450 प्राइवेट हॉस्पिटल्‍स में हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Shopping Cart
Enable Notifications    OK No thanks