‘धन्यवाद, आपने लोकतंत्र को एकतंत्र बनने से रोका’लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव करीब 28 मिनट बोले। उन्होंने अपने भाषण में सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘देश के सभी समझदार और ईमानदार मतदाताओं को धन्यवाद, जिन्होंने देश के लोकतंत्र को एकतंत्र बनाने से रोका। अखिलेश ने एक शेर पढ़ते हुए कहा, आवाम ने तोड़ दिया हुकुमत का गुरुर, दरबार तो लगा है पर बड़ा गमगीन बेनूर।’