BJP AAP Delhi Fighting, Jan Media TV

BJP AAP Delhi Fighting : दिल्ली: निगम सदन में AAP और BJP नेताओं के बीच चले लात-घूंसे, केजरीवाल के खिलाफ भाजपा लाई थी निंदा प्रस्ताव

BJP AAP Delhi Fighting : दिल्ली: निगम सदन में AAP और BJP नेताओं के बीच चले लात-घूंसे, केजरीवाल के खिलाफ भाजपा लाई थी निंदा प्रस्ताव भाजपा पार्षद के प्रस्ताव पर आम आदमी पार्टी के पार्षद सदन नेता के पास पहुंच गए हंगामा करने लगे. इसी बीच सभी आम आदमी पार्टी के नेताओं और बीजेपी पार्षदों के बीच में जमकर हाथापाई हुई

पूर्वी दिल्ली नगर निगम (EDMC) में बुधवार को सदन की गरिमा उस समय तार-तार हो गई, जब सत्ता और विपक्ष पार्षदों के बीच जमकर लात-घूंसे और चप्पल चलने के साथ जमकर मारपीट हुई। मारपीट में विपक्ष के पार्षदों ने नेता सदन सत्यपाल सिंह और स्थायी समिति चेयरमैन वीएस पंवार को पीटा तो वहीं सत्ता पक्ष के पार्षदों ने नेता विपक्ष मनोज त्यागी और अन्य पार्षदों का पीटा। इस दौरान ‘आप’ के पार्षद के कपड़े फाड़ दिए गए।

सदन में हो रहे उत्पात को देख महापौर श्याम सुंदर अग्रवाल के आदेश पर सुरक्षा कर्मियों ने नेता विपक्ष को उठाकर सदन से बाहर निकाल दिया।

सदन की बैठक शुरू होने पर नेता सदन सत्यपाल सिंह ने महानगर पार्षद रहे ईश्वर दास महाजन के शोक प्रस्ताव को पढ़ा और इसके तुरंत बाद नेता विपक्ष मनोज त्यागी ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता से माफी मांगने का निंदा प्रस्ताव पढ़ना शुरू किया ही था कि सदन की बैठक शोर गुल में बदल गई।

सत्ता पक्ष और विपक्ष के पार्षदों ने एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। प्रवेश शर्मा ने कहा कि कश्मीरी पंडित और हिंदुओं को लेकर सीएम केजरीवाल ने अपशब्द कहे हैं। पूर्व महापौर नीमा भगत और पार्षद हिमांशी पांडे ने कहा कि केजरीवाल ने कश्मीरी पंडितों का मजाक उड़ाया है। इसके बाद दोनों पक्षों के पार्षदों के बीच लात-घूंसे चलने शुरू हो गए। नेता विपक्ष और स्थायी समिति चेयरमैन के बीच काफी देर तक मारपीट होती रही। दोनों तरफ के पार्षद एक दूसरे का बचाव भी कर रहे थे, लेकिन इस बीच सदन में आए एक युवक की विपक्ष के पार्षदों ने जमकर धुनाई कर दी।

सदन की गरिमा तार-तार होते देख महापौर ने सुरक्षा कर्मियों को आदेश दिया कि वह नेता विपक्ष सहित अन्य पार्षदों को बाहर करें। सुरक्षा कर्मियों ने नेता विपक्ष को घसीट कर बाहर तो निकाल दिया, लेकिन वह दूसरे रास्ते से नारेबाजी करते हुए फिर सदन में घुस आए। यह देख महापौर ने सुरक्षा कर्मियों को फिर से आदेश दिए तो इस बार मार्शल नेता विपक्ष को कंधे से खींचते हुए बाहर ले गए और नारेबाजी के बीच प्रस्ताव मंजूर किए गए।  

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Shopping Cart
Enable Notifications    OK No thanks