, Jan Media TV

prayagraj phaphamau crime News प्रयागराज फाफामऊ में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या

prayagraj phaphamau crime News प्रयागराज फाफामऊ में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या से सनसनी फ़ैल गई. फाफामऊ थाना क्षेत्र के गोहरी मोहनगंज बाजार निवासी फूलचंद, उनकी पत्नी मीनू, 17 बेटी सपना और 12 साल के बेटे शिव की धारधार हथियार से काटकर कर हत्या (Murder) कर दी गई. जानकारी के मुताबिक सभी की कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतारा गया. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस (Police)जांच में जुटी है. मामले के खुलासे के लिए डॉग स्क्वाड और फॉरेंसिक टीम भी मौके पर साक्ष्य जुटाने में लगी हुई है. सीओ सोरांव, एसओ फाफामऊ के साथ होलागढ़, सोरांव, नवाबगंज और थरवई थाना पुलिस मौके पर पहुंची है.

कुल्हाड़ी-फावड़े से गर्दन, सब्बल से सिर पर किया वार, शवों की हालत बयां कर रही थी दरिंदगी की दास्तां। फाफामऊ में शांतिपुरम से होते हुए रेलवे क्रॉसिंग पार करते ही गोहरी गांव पड़ता है। इसी गांव में सड़क से लगभग सटे हुए मकान में फूलचंद व उसका परिवार रहता था। घर के दाहिनी ओर पशु औषधालय है जबकि बायीं ओर खाली प्लॉट पड़ा है।
 फाफामऊ के गोहरी गांव में एक ही परिवार के चार लोगों को मौत के घाट उतारने वाले हत्यारों के सिर पर खून सवार था। मौके और शवों की हालत उनकी दरिंदगी की दास्तां बयां कर रही थी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि मौके पर जो हालात थे, उससे इस बात की आशंका है कि हत्यारों ने पहले बरामदे में सो रहे दंपति व बेटे को मारा और फिर दरिंदगी के बाद कमरे में सो रही किशोरी का कत्ल कर दिया।
फाफामऊ में शांतिपुरम से होते हुए रेलवे क्रॉसिंग पार करते ही गोहरी गांव पड़ता है। इसी गांव में सड़क से लगभग सटे हुए मकान में फूलचंद व उसका परिवार रहता था। घर के दाहिनी ओर पशु औषधालय है जबकि बायीं ओर खाली प्लॉट पड़ा है। पीछे की ओर ईंट का भट्ठा है। पशु औषधालय की चहारदिवारी इतनी है कि आराम से इसे फांदकर घर में दाखिल हुआ जा सकता है।

मकान में घुसते ही सबसे पहले आंगन और फिर बायीं ओर पशुबाड़ा है। जबकि इसके बाद बरामदा और फिर एक कमरा है। फूलचंद पत्नी व बेटे के साथ बरामदे में जबकि बेटी कमरे में सोती थी। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि बरामदे में दो चारपाइयां पड़ीं थीं। जिनमें से एक पर फूलचंद जबकि दूसरे पर उसकी पत्नी मीनू मृत पड़ी थीं। बगल में ही जमीन पर बेटे शिव की लाश पड़ी थी। मौके पर ही खून भी फैला था जो सूख चुका था। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि तीनों मृतकों के शवों पर कंबल पड़े हुए थे। कंबल हटाने पर पता चला कि उनकी मौत हो चुकी है। तीनों के गर्दन पर धारदार हथियार जबकि सिर पर भारी हथियार से वार करने के जख्म मिले। उधर कमरे में किशोरी का अस्त-व्यस्त शव चारपाई पर पड़ा मिला। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि उसके भी सिर व गदर्न पर जख्म केनिशान मिले। शव जिस हालत में मिला, उससे पूरी आशंका है कि उसकेसाथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि मौके व शवों की हालत देखकर यही लग रहा था कि पहले बरामदे में सो रहे दंपति व बेटे को मारा गया। इसके बाद किशोरी के साथ दरिंदगी कर कातिलों ने किशोरी को भी मार डाला। शरीर पर मिले जख्मों के निशान से यह भी माना जा रहा है कि मृतकों पर पहले कुल्हाड़ी व फावड़े से हमला किया गया और फिर सिर पर सब्बल से वार कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया। 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Shopping Cart
Enable Notifications    OK No thanks