Cruise service between Varanasi and Vindhyachal वाराणसी और विंध्याचल के बीच जल्द ही बोट क्रूज सर्विस होगी जल्द शुरू

वाराणसी और विंध्याचल के बीच जल्द ही बोट क्रूज सर्विस होगी जल्द शुरू

काशी से विंध्याचल चलेगी रो रो बोट सर्विस, विंध्यवासिनी दर्शन करके उसी दिन वापसी। इसके जरिए दर्शन करने आए तीर्थयात्री एक दिन में ही वाराणसी में बाबा विश्वनाथ के साथ विंध्याचल मां के भी दर्शन करके लौट सकते हैं। इसके लिए गंगा में दो बोट से इसकी शुरुआत हो रही है।
वाराणसी में मां गंगा की लहरों के बीच तैरते भक्ति के दीपों के साथ ही बोट क्रूज भी देख सकेंगे, इस बोट क्रूज में सवार होकर आप सिर्फ गंगा की लहरों का ही आनंद नहीं ले सकते हैं बल्कि आप इससे विंध्याचल मां के दर्शन भी कर सकेंगे। धार्मिक टूरिज्म और रोजगार बढ़ाने के लिए सरकार काशी विश्वनाथ कॉरिडोर से विंध्याचल तक रो रो बोट सेवा शुरू कर रही है।इस सेवा से तीर्थयात्री एक दिन में विंध्याचल दर्शन कर वापस लौट सकते हैं उस वक्त गंगा की लहरों और मनोहारी दृश्यों का भी आनंद ले सकते हैं, अभी मिर्जापुर में चुनार तक ही सेवा शुरू हुई है।
एक बार में 200 यात्री ही जा सकते हैं, 70 किमी का सफर होगा।
क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी कीर्तिमान श्रीवास्तव का कहना है कि दो बोट इस मार्ग पर चलाई जाएंगी।जिनका नाम स्वामी विवेकानंद और एमवी सैम मानेकशॉ है जो करीब 10 महीने से गंगा में खड़े हैं। इसके माध्यम से काशी विश्वनाथ कॉरिडोर और विंध्याचल को जुड़ जाएगा।