UP Assembly Elections 2022 मायावती ने काटा बाहुबली मुख्तार अंसारी का टिकट, ओवैसी का खुला न्योता, अखिलेश की मुश्किलें !

UP Assembly Elections 2022 मायावती ने काटा बाहुबली मुख्तार अंसारी का टिकट, ओवैसी का खुला न्योता, अखिलेश की मुश्किलें !

UP Election 2022: अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले विधान सभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) से पहले बीएसपी प्रमुख मायावती (Mayawati) ने बाहुबली मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) का टिकट काट दिया है और उनकी जगह मऊ विधान सभा सीट से भीम राजभर (Bhim Rajbhar) का नाम फाइनल किया है.

UP Assembly Elections 2022 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती ने बसपा के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को टिकट न देने का ऐलान किया है. इसके बाद मुख्तार अंसारी के लिए असदुद्दीन ओवैसी की AIMIM ने दरवाजे खोल दिए हैं. वहीं इससे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं.

अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले विधान सभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) से पहले बीएसपी प्रमुख मायावती (Mayawati) ने बड़ा ऐलान किया है और कहा है कि आगामी चुनाव में बीएसपी किसी भी बाहुबली या माफिया को टिकट नहीं देगी. मायावती ने ट्वीट कर कहा कि बीएसपी का संकल्प ‘कानून द्वारा कानून का राज’ के साथ ही यूपी की तस्वीर को भी अब बदल देने का है.

UP Assembly Elections 2022 बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को टिकट न देने का फैसला किया है. वहीं इसके बाद असदुद्दीन ओवैसी की ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने मुख्तार अंसारी के लिए दरवाजे खोल दिए हैं. ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के यूपी अध्यक्ष शौकत अली ने कहा है कि अगर मुख्तार अंसारी हमारी पार्टी में शामिल होते हैं तो हम यूपी चुनाव 2022 के लिए उन्हें टिकट देंगे. मतलब साफ है कि मुस्लिम नेताओं को असदुद्दीन ओवैसी अपनी पार्टी में शामिल कर रहे हैं और मुस्लिम नेताओं का एआईएमआईएम में शामिल होने पर अखिलेश यादव की मुश्किले बढ़ सकती हैं. कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश के कद्दावर नेता एवं पूर्व सांसद अतीक अहमद और उनकी पत्नी शाइस्ता परवीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन में शामिल हुईं थीं.

UP Assembly Elections 2022 यूपी में अखिलेश यादव के साथ मुस्लिम वोटर काफी हैं और ओवैसी यूपी में सपा को वोट देने वाले मुस्लिम वोटरों पर काफी प्रभाव डालेंगे. क्योंकि यूपी में ओवैसी सत्ताधारी पार्टी बीजेपी से अधिक अखिलेश पर भी हमलावर रहते हैं. क्योंकि उनका कहना है कि मुस्लिमों ने अखिलेश की सपा को हमेशा वोट दिया है लेकिन अखिलेश ने मुस्लिमों के लिए कुछ कार्य नहीं किया है. अब देखना ये है कि यूपी के मुस्लिम वोटर अखिलेश के साथ रहेंगे या फिर ओवैसी के साथ.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Shopping Cart
Enable Notifications    OK No thanks