प्रयागराज: नगर निगम की बैठक में हंगामा, भाजपा पार्षद किरन निलंबित

प्रयागराज: नगर निगम की बैठक में हंगामा, भाजपा पार्षद किरन निलंबित
नगर निगम सदन की बुधवार को बैठक में जमकर हंगामा हुआ। महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने बिना अनुमति सदन में चर्चा करने वाली भाजपा पार्षद किरन जायसवाल को निलंबित कर दिया। निलंबन की कार्रवाई के बाद भी पार्षद किरन ने जनहित में यूजर चार्ज का मु्द्दा उठाते हुए चर्चा कराने की मांग की। इस दौरान सदन की कार्रवाई आधे घंटे के लिए स्थगित कर दी गई। दोबारा कार्रवाई शुरू हुई तो पार्षद फिर हंगामा करने लगे। भाजपा पार्षद दल में ही दो फाड़ साफ दिखी। करीब तीन घंटे के हंगामे के बीच 7.9 अरब का पुनरीक्षित बजट 2020-21 ध्वनिमत से पारित हुआ। सदन ने महापौर और कार्यकारिणी के गृहकर वृद्धि वापसी फैसले पर सहमति जताई। अब शहरियों को पुरानी दरों पर ही गृहकर जमा करना होगा।
नगर निगम सदन की कार्रवाई निर्धारित समय से पौन घंटा देरी से 11.45 बजे शुरू हुई। कोरोना महामारी के दौरान जान गंवाने वाले पार्षद, कर्मचारियों को श्रद्धांजलि देने के बाद पुनरीक्षित बजट पर चर्चा शुरू करने की अनुमति महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने दी। सीएफओ बजट पढ़ते पार्षद कमलेश तिवारी ने यूजर चार्ज मुद्दे पर सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने के लिए पार्षद किरन जायसवाल से माफी मांगने को कहा। आरोप लगा कि निगम कार्यकारिणी को रबर स्टैंप कहा गया। इस बीच किरन जायसवाल ने यूजर चार्ज को जनता पर बोझ बताते हुए बिना अध्यक्ष की अनुमति अपनी बात रखने लगीं। पक्ष-विपक्ष के पार्षद हंगामा करने लगे। शोरगुल ऐसा रहा कि बजट पर चर्चा सुनाई ही नहीं दे रही थी। अध्यक्ष महापौर ने आधे घंटे के लिए सदन की कार्रवाई स्थगित कर दी। महापौर से भाजपा पार्षद की अनुमति के मुद्दे पर तीखी बहस बाजी हुई।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
न्यूज़