20 गांव की मिट्टी के साथ एक 1 जून को कलेक्ट्रेट पर होगा सांकेतिक उपवास

बाजपुर बचाओ मुहिम, Jan Media TV


1जून को बाजपुर बचाओ मुहिम का ऐक साल पूरा हो जाएगा । इसी उपलक्ष में क्षेत्र के 20 गांव की 5838 एकड़ की मिट्टी को लेकर किसान नेता जगतार सिंह बाजवा 1 जून 2021 को कलेक्ट्रेट सांकेतिक उपवास रखेंगे ।

आप सभी को बिदित है कि प्रदेश सरकार के द्वारा शहर बाजपुर के 20 गावों की जमीन की खरीद-फरोख्त पर एक साल पहले रोक लगा दी गई थी जो अभी तक बनी हुई है। सरकार द्वारा लगाई गई रोक व बेदखली की कार्रवाई गतिमान होने के चलते 20 गांव के हजारों किसान, मजदूर, व्यापारी बर्बादी के कगार पर पहुंच गए हैं। बार-बार सरकारी आश्वासनों के बाद भी अभी तक इस समस्या का कोई समाधान नहीं निकला है। जो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।
20 गांव की भूमि को लेकर “भूमि बचाओ मुहिम” चला रहे किसान नेता जगतार सिंह बाजवा ने अनेकों बार मुख्यमंत्री व कैबिनेट मंत्रियों से गुहार लगाई । क्षेत्र की जनता केे द्वारा लगातार विरोध प्रदर्शन किये गए परंतुुुु कोई नतीजाान निकला ।

प्रदेश सरकार द्वारा आश्वासन दिया गया था की छेत्र की जनता को उनके अधिकार उन्हें वापस मिलेंगे जो पुश्तैनी भूमि वर्ग 1 क जिस पर 1970 से भी पहले से भूमिधरी अधिकार प्राप्त हैं। उनको वापस दिए जायेंगे । लेकिन उत्तराखंड सरकार द्वारा तानाशाही रवैया अपनाते हुए लोगों को उक्त भूमि से बेदखली की कार्रवाई भी गतिमान कर दी गई जो किसी भी दृष्टि से न्याय संगत नहीं है। इस बीच अनेकों बार प्रदेश के मुख्यमंत्री व क्षेत्र के कैबिनेट मंत्रियों ने आश्वासन मात्र देकर ही लोगों को गुमराह किया है। किसान नेता जगतार सिंह बाजवा का कहना है कि जब तक क्षेत्र के लोगों को उनके मालिकाना हक प्राप्त नहीं हो जाते तब तक संघर्ष जारी रहेगा।
1 जून को “बाजपुर भूमि बचाओ मुहिम” के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में 20 गांव की मिट्टी के साथ रुद्रपुर में कलेक्ट्रेट पर किसान नेता जगतार सिंह बाजवा कोविड- 19 के नियमों का पालन करते हुए स्वयं अकेले ही सांकेतिक उपवास पर बैठेंगे।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
न्यूज़